jharkhand ev subsidy apply online

झारखंड सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों (EV) को बढ़ावा देने के लिए कई पहलें शुरू की हैं। इन पहलों में सबसे महत्वपूर्ण है EV सब्सिडी योजना, जिसका उद्देश्य राज्य में पर्यावरण के अनुकूल परिवहन को प्रोत्साहित करना है। इस लेख में, हम झारखंड EV सब्सिडी के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया को विस्तार से समझाएंगे।

झारखंड इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) नीति, 2022 के तहत राज्य सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद पर अनुदान देने की भी घोषणा की है। इसके तहत राज्य में नई इलेक्ट्रिक कार खरीदने पर 1.50 लाख रुपये तक, इलेक्ट्रिक स्कूटी या दोपहिया वाहन पर 10,000 रुपये, ऑटो खरीदने पर 30,000 रुपये और ई-बस खरीदने पर 20 लाख रुपये तक का अनुदान दिया जाएगा।

ईवी नीति, 2022 के तहत रोड टैक्स में छूट का भी प्रावधान है। राज्य के भीतर उत्पादन करने वाले उद्योगों से आईवीवाई के पहले 10 हजार खरीदारों को 100 प्रतिशत छूट, 10 से 15 हजार खरीदारों को 75 प्रतिशत और उसके बाद 25 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

राज्य सरकार ने कहा कि इस नीति को लागू करने का उद्देश्य झारखंड को IV हब बनाना और पूर्वी भारत में झारखंड को IV निर्माण इकाई का सबसे पसंदीदा राज्य बनाना है। इस नीति के तहत झारखंड की योजना 2027 तक एडवांस केमिस्ट्री सेल बैटरी बनाने की है,

जिसके तहत शहरी क्षेत्र में हर तीन किमी. हर 10 लाख की आबादी पर 50 चार्जिंग स्टेशन खोले जाएंगे। इसके अलावा नेशनल हाईवे पर हर 25 किमी पर एक चार्जिंग स्टेशन बनाया जाएगा। ईवी चार्जिंग स्टेशन खोलने पर 50 से 60 फीसदी सब्सिडी का प्रावधान किया गया है और राज्य में ईवी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने पर 2 करोड़ से 30 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।

राज्य सरकार ने प्रावधान किया है कि अगर राज्य सरकार के कर्मचारी दो पहिया या चार पहिया वाहन खरीदते हैं तो उन्हें 100 फीसदी ब्याज सब्सिडी दी जाएगी और सरकारी दफ्तरों में ऑफिस इस्तेमाल के लिए ईवी के इस्तेमाल पर भी जोर दिया गया है।

झारखंड EV सब्सिडी योजना का महत्व

पर्यावरणीय लाभ

  • कार्बन उत्सर्जन में कमी: EV उपयोग से कार्बन फुटप्रिंट में कमी।
  • वायु गुणवत्ता में सुधार: ईंधन आधारित वाहनों के मुकाबले कम प्रदूषण।

आर्थिक लाभ

  • लंबी अवधि में लागत बचत: ईंधन की तुलना में इलेक्ट्रिसिटी की कम कीमत।
  • सरकारी प्रोत्साहन: सब्सिडी और टैक्स में छूट।

झारखंड EV सब्सिडी के प्रकार

व्यक्तिगत सब्सिडी

  • दो-पहिया वाहनों के लिए: छात्रों और निम्न आय वर्ग के लिए विशेष सब्सिडी।
  • चार-पहिया वाहनों के लिए: परिवारों और छोटे व्यापारियों के लिए।

व्यावसायिक सब्सिडी

  • टैक्सी और ऑटो: पब्लिक ट्रांसपोर्ट को EV में बदलने के लिए।
  • कंपनी बेड़े: व्यवसायों के लिए बड़े पैमाने पर EV खरीदने पर सब्सिडी।

सब्सिडी के लिए पात्रता

व्यक्तिगत स्तर पर

  • निवास प्रमाण पत्र: झारखंड का निवासी होना अनिवार्य।
  • आय प्रमाण पत्र: आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना।

व्यावसायिक स्तर पर

  • व्यवसाय पंजीकरण: व्यवसाय का वैध पंजीकरण होना चाहिए।
  • GST प्रमाण पत्र: GST पंजीकरण और रिटर्न दाखिल करने का प्रमाण।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

चरण 1: पोर्टल पर पंजीकरण

  • सरकारी वेबसाइट पर जाएं: EV सब्सिडी पोर्टल पर जाएं।
  • खाता बनाएं: आवश्यक जानकारी भरें और OTP से वेरिफाई करें।

चरण 2: आवेदन फॉर्म भरें

  • व्यक्तिगत जानकारी: नाम, पता, संपर्क जानकारी आदि।
  • वाहन जानकारी: वाहन का मॉडल, निर्माता, कीमत आदि।
  • दस्तावेज़ अपलोड करें: पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र आदि।

चरण 3: आवेदन सबमिट करें

  • फॉर्म की समीक्षा करें: सभी जानकारी को ध्यान से जांचें।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करें: आवेदन सबमिट करें और आवेदन संख्या नोट करें।

दस्तावेज़ आवश्यकताएँ

पहचान प्रमाण

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड

निवास प्रमाण

  • राशन कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस

वाहन संबंधित दस्तावेज़

  • बिल ऑफ सेल
  • वाहन पंजीकरण प्रमाण पत्र

आवेदन की समीक्षा और अनुमोदन प्रक्रिया

दस्तावेज़ सत्यापन

  • ऑनलाइन सत्यापन: पोर्टल पर अपलोड किए गए दस्तावेज़ों का सत्यापन।
  • फिजिकल सत्यापन: जरूरत पड़ने पर फिजिकल सत्यापन।

अनुमोदन

  • स्वीकृति सूचना: अनुमोदन के बाद, आवेदक को ईमेल या SMS के माध्यम से सूचना दी जाएगी।
  • सब्सिडी वितरण: स्वीकृति के बाद, सब्सिडी राशि आवेदक के बैंक खाते में जमा की जाएगी।

लाभार्थियों की सफलता की कहानियाँ

रमेश कुमार, रांची

  • पेशे: शिक्षक
  • वाहन: दो-पहिया EV
  • लाभ: कम ईंधन लागत और सरकार से सब्सिडी प्राप्त।

सुमन सिंह, जमशेदपुर

  • पेशे: व्यापारी
  • वाहन: चार-पहिया EV
  • लाभ: व्यवसाय के लिए लंबी अवधि में लागत बचत।

विशेषज्ञों की राय

डॉ. अनीता वर्मा, पर्यावरण विशेषज्ञ

  • राय: “EV अपनाने से न केवल पर्यावरणीय लाभ होता है, बल्कि आर्थिक लाभ भी मिलता है।”

राजेश चौधरी, ऑटोमोबाइल विशेषज्ञ

  • राय: “झारखंड सरकार की यह पहल राज्य में EV के उपयोग को बढ़ावा देगी।”

निष्कर्ष

झारखंड EV सब्सिडी योजना राज्य के निवासियों के लिए एक महत्वपूर्ण पहल है, जो न केवल पर्यावरण के अनुकूल परिवहन को प्रोत्साहित करती है, बल्कि आर्थिक लाभ भी प्रदान करती है।